logop
Home

ऑस्ट्रेलिया ने दस साल बाद जीती भारत में सीरीज



  • Share
  • 272 रन के जवाब में भारतीय टीम 237 रन पर सिमटी


  • नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलिया ने उस्मान ख्वाजा के सीरीज में दूसरे शतक, लेग स्पिनर एडम जांपा की शानदार गेंदबाजी तथा भारत की कमियों का पूरा फायदा उठाकर पांचवें और निर्णायक वनडे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में 35 रन से जीत दर्ज करके दस साल बाद भारतीय सरजमीं पर वनडे सीरीज अपने नाम की। आस्टेलिया का टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला सही रहा और केवल चार विशेषज्ञ बल्लेबाजों के साथ उतरे भारत के लिए 273 रन का लक्ष्य पहाड़ जैसा बन गया। शुरू में रोहित शर्मा 89 गेंदों पर 56 रन की अर्धशतकीय पारी तथा बाद में केदार जाधव 57 गेंदों पर 44 रन और भुवनेश्वर कुमार 54 गेंदों पर 46 रन ने सातवें विकेट के लिए 91 रन जोड़कर उम्मीद जगाई लेकिन भारत आखिर में 50 ओवर में 237 रन पर आउट हो गया। जांपा ने 46 रन देकर तीन जबकि तेज गेंदबाज पैट कमिंस, जाय रिचर्डसन और मार्कस स्टोइनिस ने दो.दो विकेट लिए।

    आस्ट्रेलिया ने इससे पहले 2009 में भारतीय सरजमीं पर छह मैचों की सीरीज 4.-2 से जीती थी इस बार उसने पहले दो मैच गंवाने के बाद लगातार तीन मैच जीतकर सीरीज 3-2 से अपने नाम की। यह वनडे में पांचवां अवसर है जबकि किसी टीम ने पहले दो मैच हारने के बाद सीरीज जीती। ऑस्ट्रेलिया से पहले दक्षिण अफ्रीका ;दो बार, बांग्लादेश और पाकिस्तान ने यह उपलब्धि हासिल की थी। भारत ने दूसरी बार पहले दो मैच जीतने के बाद सीरीज गंवाई इससे पहले 2005 में पाकिस्तान के खिलाफ वह शुरुआती बढ़त का फायदा नहीं उठा पाया था। इससे पहले ख्वाजा ने 106 गेंदों पर दस चौकों और दो छक्कों की मदद से 100 रन बनाए उन्होंने कप्तान एरोन फिंच 43 गेंदों पर 27 रन के साथ पहले विकेट के लिए 76 और पीटर हैंड्सकांब 60 गेंदों पर 52 रन के साथ दूसरे विकेट के लिए 99 रन की दो उपयोगी साझेदारियां कीं। भारत ने अच्छी वापसी की लेकिन पुछल्ले बल्लेबाजों ने अंतिम चार ओवर में 42 रन जुटाए जिससे ऑस्ट्रेलिया नौ विकेट पर 272 रन के चुनौतीपूर्ण स्कोर तक पहुंच गया।