logop
Home

विरासत संरक्षण और प्राकृतिक सम्बर्धन पर दो दिवसीय संगोष्ठी का आयोजन खजुराहो में



  • Share


  • खजुराहो ।  केंद्र सरकार से संबंद्ध एनवायरनमेंट एंड सोसल वेलफेयर सोसायटी के तत्वाधान में राष्ट्रीय शोध संगोष्ठी के छठवें संस्करण का आयोजन होटल ग्रीन हाउस खजुराहो में हो रहा है । संगोष्ठी का विषय नीति आयोग विरासत  संरक्षण और प्राकृतिक सम्बर्धन पर आधारित है ।  कार्यक्रम का उद्धाटन मुख्य अतिथि एवं मुख्य वक्ता डा. नंदिता पाठक  ने किया विशिष्ट अतिथि डॉ. संबथ क्षेत्रीय निदेशक आरकलोजिकल सर्वे ऑफ इंडिया भारत सरकार  डा. भूषण दिवान पूर्व भारतीय सेना अधिकारी मुम्बई एवं स्वप्निल वानखेड़े आई ए एस एवं अनुविभागीय अधिकारी राजनगर उपस्थित  रहे। कुलपति निदेशक प्रोफेसर विषय विशेषज्ञ शोधकर्ता पर्यावरणविद् वैज्ञानिक सहित सहयोगी संस्थान बुन्देलखण्ड एक्सटेंडिड रीजन चैप्टर चित्रकूट दा राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी भारत जू लोजी सर्वे ऑफ इंडिया कलकत्ता महाराजा छत्रसाल बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय छतरपुर गोदावरी एकेडमी ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी छतरपुर के प्रतिनिधि तथा शासन प्रशासनिक अधिकारी एवं गणमान्य नागरिक सामिल हुए । कार्यक्रम के पहले दिन  मुख्य वक्ता के तौर पर समाज सेविका डा. नंदिता पाठक ने पर्यावरण के प्रति अपनी चिंता जाहिर करते हुए कहा की वर्तमान परिवेश में वृक्षों का संरक्षण तालाबों का संरक्षण एवं पॉलीथिन मुक्त भारत की आवश्यकता है।  आपने पर्यावरण के प्रति लोगो को जागरूप करने की बात कही तथा इसकी शुरुवात हमारे नोंनिहालो से हो क्योंकि ये ही हमारे भविष्य है ।

    वही अनुबिभागीय अधिकारी पं. श्री स्वापनिल बानखेड़े ने कहा की जिस तरह से उत्खनन हो रहा है तथा पर्यावरण से छेड़छाड़ हो रही है वो सही नही है हम जिस तरह से देश व माता पिता का सम्मान करते है उसी तरह ही पर्यावरण का भी सम्मान करते हुए इसकी भी चिंता करनी चाहिए । कार्यक्रम मे बाहर से आये हुए वक्ताओं ने अपनी अपनी बाते रखी जो काफी सारगर्भित थी ।